जागरूकता शिविर

Printer-friendly version

लक्षित समूह में एनएसकेएफडीसी की योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जागरूकता लाने के लिए सीधे संपर्क हेतु एनएसकेएफडीसी राज्य माध्यम अभिकरणों (एस.सी.एज.) के माध्यम से सफाई कर्मचारियों/स्वच्छकारों की बस्तियों में जागरूकता शिविर लगाता है एवं उन्हें निगम की योजनाओं का लाभ उठाने के लिए प्रेरित करता है ताकि वे सफाई के अपने परम्परागत व्यवसाय को छोडकर अन्य सम्मानजनक आय अर्जित करने वाले व्यवसायों या स्वरोजगार गतिविधियों को अपना सकें।
  जागरूकता शिविर की विशेष्ताएं इस प्रकार से हैं:-

  • एनएसकेएफडीसी की अधिकारी राज्य माध्यम अभिकरणों के जिला अधिकारियों के साथ जागरूकता शिविर के आयोजन हेतु सक्रिय रूप से जुडे/शामिल रहते हैं।
  • स्थानीय भाषा में इश्तेहार/पंफलेट वितरित करके, जिले के स्थानीय सामाचार पत्रों में विज्ञापन देकर प्रचार किया जाता है।
  • कायर्कम में भाग लेने वाले लक्षित समूह को एनएसकेएफडीसी का वृतचित्र दिखाया जाता है एवं निगम की योजनाओं की जानकारी एवं ऋण लेने की प्रक्रिया की जानकारी भी दी जाती है
  • एस.सी.ए. एवं एनएसकेएफडीसी के अधिकारी उन्हें एनएसकेएफडीसी/एस.सी.ए. की येाजनाओं के तहत ऋण लेने के लिए मार्गदर्शन करते हैं।
  • जागरूकता शिविर के दौरान एससीए द्वारा प्रतिभागियों से नाम, पता, योग्यता, अनुभव एवं योजना का चुनाव आदि जानकारी एकत्र करके इच्छुक लाभार्थियों से प्रारम्भिक ऋण आवेदन पत्र भरवाए जाते हैं।
  • इस डाटा का प्रयोग एससीए द्वारा परियोजना प्रस्ताव के नियमन हेतु किया जाता है।
  • इस योजना के तहत एनएसकेएफडीसी राज्य माध्यम अभिकरणों को जागरूकता शिविर के आयोजन हेतु रू.30000/- प्रति जागरूकता शिविर का पुर्नभुगतान करता है।